Home » Breaking News » राज्यपाल फागू चौहान ने ‘गणतंत्र दिवस’ के सुअवसर पर गाँधी मैदान में राष्ट्रीय झंडोत्तोलन किया

राज्यपाल फागू चौहान ने ‘गणतंत्र दिवस’ के सुअवसर पर गाँधी मैदान में राष्ट्रीय झंडोत्तोलन किया

पटना : महामहिम राज्यपाल  फागू चौहान ने 72वें गणतंत्र दिवस-समारोह-2021 के सुअवसर पर स्थानीय गाँधी मैदान में पूर्वाह्न 09ः00 बजे राष्ट्रीय झंडोत्तोलन किया। राज्यपाल के गाँधी मैदान पहुँचने पर उन्हें राष्ट्रीय सलामी दी गई तथा बाद में राज्यपाल ने खुली जीप में परेड का निरीक्षण किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय धुन बजाई गई एवं राष्ट्रीय सलामी हुई। राज्यपाल ने ‘मार्च पास्ट’ की भी सलामी ली। राज्यपाल द्वारा ‘गणतंत्र दिवस-2021’ के अवसर पर ‘शौर्य पुरस्कार’ से सम्मानित विजेताओं को पुरस्कार एवं प्रशंसा-पत्र भी प्रदान किये गये। राज्यपाल ने विभिन्न सरकारी विभागों/संगठनों द्वारा निकाली गयी झाँकियों को भी अवलोकित किया।
राज्यपाल श्री चैहान ने ऐतिहासिक गाँधी मैदान में ‘गणतंत्र दिवस’ के अवसर पर राज्य की जनता को संबोधित करते हुए उन्हें ‘गणतंत्र दिवस’ की शुभकामनाएँ दी।
इस अवसर पर बोलते हुए राज्यपाल ने कहा कि न्याय के साथ विकास के सिद्धान्त पर राज्य के हर क्षेत्र का विकास एवं हर तबके का उत्थान सरकार का मूल संकल्प है। बिहार में कानून का राज स्थापित रखना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। संगठित अपराध पर अंकुश लगाया गया है और यही व्यवस्था निरंतर जारी है। बिना किसी द्वेष या भेदभाव के कानून व्यवस्था को लागू किया गया है। राज्य में सामाजिक सौहार्द एवं साम्प्रदायिक सद्भाव का वातावरण कायम है। भ्रष्टाचार, आय से अधिक सम्पŸिा अथवा पदों के दुरूपयोग में संलिप्त भ्रष्ट लोक सेवकोें के विरूद्ध कठोर एवं प्रभावकारी कार्रवाई जारी है। क्राइम, करप्शन और कम्यूनलिजम के प्रति जीरो टाॅलरेन्स की नीति है।
राज्यपाल श्री चैहान ने कहा कि बिहार लोक सेवाओं का अधिकार कानून को लागू कर नागरिकों को विभिन्न लोक सेवाएँ एक नियत समय-सीमा के अंतर्गत उपलब्ध कराई जा रही हंै। बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम को लागू कर लोगों को उनके परिवाद पर सुनवाई के साथ-साथ नियत समय-सीमा में इसके निवारण का भी कानूनी अधिकार दिया  गया है।
राज्यपाल ने कहा कि गुजरा हुआ साल-2020 वैश्विक महामारी कोविड-19 से आक्रांत रहा और इसका प्रकोप अभी भी जारी है। पूरा देश और बिहार भी इससे काफी प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस बीमारी की रोकथाम के लिए शुरू से सचेत रही हैै और लगातार इस पर काम कर रही है। राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार द्वारा जारी लाॅकडाउन के दिशानिर्देशों को पूरी तरह लागू किया है। इस महामारी के दौरान राज्य सरकार द्वारा लोगों को राहत पहुँचाने के लिए सभी प्रकार के कदम उठाए गए हंै तथा इसके लिये 10 हजार करोड़ रूपये से अधिक की राषि व्यय की जा चुकी है। केन्द्र सरकार से भी इसके लिए जरूरी मदद मिली है।

कहा कि कोरोना बीमारी का सामना करते हुए सबको स्वस्थ रखने के लिए राज्य सरकार ने अथक प्रयास किया है। राज्य सरकार द्वारा इस बीमारी की रोकथाम के लिए जाँच की सुविधा एवं इलाज की समुचित व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि अभी बिहार राज्य में प्रतिदिन लगभग 1 लाख जाँच की जा रही है। दिनांक 21.01.2021 तक के आँकड़ों के आधार पर प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 1 लाख 58 हजार 478 लोगों की जांच की गयी है जो राष्ट्रीय औसत से 20 हजार से भी अधिक है। बिहार में कोरोना से रिकवरी रेट 98.32 प्रतिशत है जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है। कोविड-19 से मृत्यु का प्रतिशत जहाँ पूरे देश में 1.44 प्रतिशत है वहीं बिहार राज्य में यह 0.57 प्रतिशत है।
राज्यपाल ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों का परिणाम है कि बिहार में कोरोना का संक्रमण कुछ हद तक नियंत्रित है। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 2 हजार 900 रह गई है। राज्य में केन्द्र सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार प्रथम चरण के टीकाकरण का काम चल रहा है। राज्य सरकार का संकल्प है कि कोरोना से बचाव के लिए पूरे राज्य में इसका निःशुल्क टीकाकरण कराया जायेगा। राज्यपाल ने आगाह करते हुए कहा कि टीकाकरण आरंभ होने का यह मतलब कदापि नहीं है कि लोग सावधानी बरतना छोड़ दें। सभी लोगों को अभी भी पूरी तरह से सजग और सचेत रहना होगा और पूरे तौर पर सावधानी बरतनी होगी।

अपने संबोधन के दौरान राज्यपाल ने कहा कि सरकार की कामना है कि समाज में सद्भाव एवं भाईचारे का वातावरण कायम रहेे तथा पर्यावरण का संरक्षण हो और राज्य को कोरोना संक्रमण की महामारी से मुक्ति मिले। उन्होंने कहा कि सभी चुनौतियों के बावजूद, हमारा राज्य प्रगति के पथ पर अग्रसर है। हमारा अतीत गौरवशाली और विरासत समृद्ध है। हम उसी ऊँचाई को फिर से प्राप्त करना चाहते हैं। राज्यपाल श्री चैहान ने बिहारवासियों का आह््वान करते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर हम सब यह संकल्प लें कि बिहार को राष्ट्र के मानचित्र पर एक आत्मनिर्भर राज्य के रूप में स्थापित करने के लिए अपना सहयोग प्रदान करेंगे। राज्यपाल ने ‘गणतंत्र दिवस’ के अवसर पर सभी बिहारवासियों एवं भारतीयों को शुभकामनाएँ एवं बधाई दी। (‘गणतंत्र दिवस-2021’ के मुख्य समारोह (गाँधी मैदान) में हुए महामहिम राज्यपाल के संबोधन के मूल पाठ की प्रति संलग्न) ‘गणतंत्र दिवस समारोह-2021’ में कला, संस्कृति एवं युवा विभाग, पर्यटन विभाग, भवन निर्माण विभाग, कृषि विभाग, उद्योग विभाग, बिहार शिक्षा परियोजना परिषद््, स्वास्थ्य विभाग, महिला विकास निगम एवं जीविका, सूचना एवं जन-सम्पर्क विभाग एवं पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन विभाग तथा जल संसाधन विभाग एवं लघु सिंचाई विभाग, बिहार के द्वारा झाँकियाँ प्रस्तुत की गईं।
‘गणतंत्र दिवस समारोह-2021’ में प्रदर्शित की गई झाँकियों में कृषि विभाग को प्रथम पुरस्कार, स्वास्थ्य विभाग को द्वितीय पुरस्कार एवं महिला विकास निगम व जीविका तथा जल संसाधन और लघु सिंचाई विभाग को तृृतीय पुरस्कार प्रदान किये जाने की घोषणा की गई। साथ ही बेस्ट पैरेड के लिए प्रोफेशनल गु्रप में बी॰आर॰सी॰ दानापुर एवं नन-प्रोफेशनल में एन॰सी॰सी॰ एयरविंग, बेस्ट टर्न आउट प्रोफेशनल ग्रुप में बिहार ए॰टी॰एस॰ तथा नन-प्रोफेशनल के लिए एन॰सी॰सी॰ आर्मी गल्र्स, बेस्ट प्लाटून कमाण्डर प्रोफेशनल ग्रुप में सी॰आर॰पी॰एफ॰ एवं
नन प्रोफेशनल में एन॰सी॰सी॰ आर्मी ब्वायज को भी पुरस्कार प्रदान किये जाने की भी घोषणा
की गई।

About digitalnews

Welcome to the Digital News Live is Complete Web News Channel. Here you will get the latest news, political upheavals, Mathapathi on special issues, Bhojpuri news, theater related news and much more. Stay tuned for exclusive videos and news in Hindi with #digitalnewslive.com.

Check Also

निधि दत्ता की शादी में शामिल होने के लिए अर्जुन रामपाल जयपुर रवाना

यह अगस्त 2020 की बात है ,जब फिल्म निर्माता-लेखक जेपी दत्ता और अभिनेत्री बिंदिया गोस्वामी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: