Home » Breaking News » शिक्षा मंत्री को एक अच्छी शुरुआत के लिए देनी चाहिए बधाई : ई. संजीव सिंह

शिक्षा मंत्री को एक अच्छी शुरुआत के लिए देनी चाहिए बधाई : ई. संजीव सिंह

पटना : बिहार इंटरमीडिएट का परीक्षा का परिणाम को सकारात्मक दृष्टिकोण देखना चाहिए। हालांकि इस बार बड़ी संख्या में छात्र फेल हुए हैं, मगर बीमारी को जड़ से ठीक करने के लिए कभी – कभी कड़वी दवाई भी पीनी पड़ती है। उक्त बातें आज बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव ई. संजीव सिंह ने कही।
श्री सिंह ने आज प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि पिछली बार सबों ने रूबी राय का मजाक उड़ाया और अब जब बिहार की शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं, तब कुछ लोगों को दिक्कत हो रहा है। हालांकि इस बार बहुत बच्चे फेल हुए हैं, मगर बिहार पास कर गया। इसके लिए हमें बिहार के शिक्षा मंत्री श्री अशोक चौधरी जी को बधाई देनी चाहिए। क्योंकि इस बार नकल पर नकेल कस एक अच्छी शुरुआत की गई है।
उन्होंने कहा कि जहां तक छात्रों की नाराजगी की बात है, तो उसके लिए शिक्षा विभाग की ओर से 3 जून से ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि बिहार आज लंबी  छलांग लगाने को तैयार है। इसके लिए हम अभी दो कदम पीछे जरूर जा रहे हैं, मगर इसका असर भविष्य में देखने को मिलेगा। श्री सिंह ने कहा कि जो लोग इस बार के रिजल्ट पर सवाल उठा रहे हैं, उन्हें जान लेना चाहिए कि इसके पहले भी कदाचारमुक्त परीक्षा सन 1996 में हुई थी, तब 12 फीसदी बच्चे ही पास हुए थे। लेकिन तब किसी ने हाय तौबा नहीं किया।
उन्होंने भाजपा पर राजनीति करने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा इस मामले का राजनीतिक माइलेज लेना चाहती है, मगर उन्हें पता होना चाहिए कि भाजपा शासित प्रदेश असम में भी मैट्रिक का रिजल्ट आया है, जो निराशाजनक है। मात्र 47.94 फीसदी बच्चे ही पास कर पाए हैं जो पिछले 14 साल में सबसे खराब है। इसलिए भाजपा के लोग सबसे पहले अपने राज्य वालों को देखें फिर दूसरे की चिंता करें।

About digitalnews

Check Also

अभी आपकी वो हैसियत और औकात नहीं बनी है कि आप श्री नीतीश कुमार से बहस करें ।

तेजस्वी यादव जी , राजनीति में अभी आपकी वो हैसियत और औकात नहीं बनी है …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *